माँ अन्नपूर्णा भक्तो में दोनों हाथों से लुटाएंगी खजाना, सोमवार से शुरू हो रहा स्वर्णमयी प्रतिमा का चार दिवसीय दर्शन

धनतेरस: माँ अन्नपूर्णा भक्तो में दोनों हाथों से लुटाएंगी खजाना, सोमवार से शुरू हो रहा स्वर्णमयी प्रतिमा का चार दिवसीय दर्शन
अन्नकूट पर्व पर होगा कपाट बंद
सुरक्षा के दृष्टि से लगें दर्जनों कैमरे
वाराणसी। वर्ष में एक बार दर्शन होने वाले स्वर्णमयी अन्नपूर्णा का चार दिवशीय दर्शन-पूजन 5 नवंबर से प्रारम्भ हो रहा है। काशी विश्वनाथ मंदिर के दाहिने तरफ माँ अन्नपूर्णा दरबार मे सोमवार से स्वर्णमयी अन्नपूर्णा का दर्शन एवम खजाना लेने के लिए भक्तो का रेला उमड़ पड़ेगा। धनतेरस पर माँ भगवती का खजाना वितरण होता है जिसे पाने के लिए देश-विदेश से लोग काशी आते है। माँ के दरबार में धनतेरस की भोर में खजाने का पूजन अर्चन होने के बाद कपाट खोल दिया जाएगा। यहां पर लाखों भक्तों के बीच मंदिर में खजाना बांटा जाएगा।
सदियों से चली आ रही इस परंपरा में खजाने के साथ-साथ भक्तों को अन्नों में लावा दिया जाता है। माना जाता है कि अन्नपूर्णा मंदिर देश का इकलौता ऐसा मंदिर है, जहां धनतेरस पर्व पर खजाना और अन्न बंटता है। इसे घर के तिजोरी और पूजा स्थल पर रखने से घर परिवार में वर्ष पर्यन्त अन्न धन की कमी नहीं रहती।
इसी संदर्भ में शुक्रवार को अन्नपूर्णा मंदिर के महंत रामेश्वरपुरी ने काशी अन्नपूर्णा अन्नक्षेत्र ट्रस्ट की दृतीय शाखा में प्रेस वार्ता कर बताया कि सोमवार को धनतेरस पर्व बड़ा ही सौभाग्यदायी है। पर्व की भोर से चार दिन के लिए अन्नपूर्णा मां की स्वर्णमयी प्रतिमा का पट आमजन के लिए खोल दिया जाता है। उन्होंने बताया कि चराचर जगत के स्वामी देवों के देव महादेव ने मां अन्नपूर्णा से यहीं पर भिक्षा मांगी थी। मां ने भक्तों के कल्याण के लिए भिक्षा के रूप में अन्न देकर वरदान दिया था कि काशी में रहने वाले कोई भी भक्त कभी भूखा नहीं सोएगा।
श्रद्धालुओं की ऐसी धारणा है कि माँ अन्नपूर्णा की नगरी काशी में कभी कोई भूखा नहीं सोता है। अन्नपूर्णा माता की उपासना से सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। ये अपने भक्त की सभी विपत्तियों से रक्षा करती हैं। इनके प्रसन्न हो जाने पर अनेक जन्मों से चली आ रही दरिद्रता का भी निवारण हो जाता है। ओस दौरान मन्दिर के उप महंत शंकर पूरी, ट्रस्ट के एक्सक्यूटिव ट्रस्टी के. जनार्दन शर्मा व आचार्य राम नारायण द्विवेदी उपस्थित रहे।
सुरक्षा के रहते है पुख्ता इंतजाम
भक्तो की भीड़  इन चार दिनों में उमड़ती है। कोई अप्रिय घटना न हो इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा भारी मात्रा में फोर्स तैनात किए जाते है। इसके अलावा मन्दिर प्रबन्धक काशी मिश्रा ने बताया सुरक्षा की दृष्टि पूरे मंदिर प्रांगण में दो दर्जन से ऊपर सीसी टीवी कैमरे लगाए जाते है। मंदिर परिसर में मेडिकल और डॉक्टर की सुविधा भी उपलब्ध रहती है। मन्दिर में जगह जगह भक्तो की सुविधा हेतु वालंटियर भी लगाए जाते है। जिससे भक्तो की भीड़ नियंत्रण हो सके और भक्तो सुलभ दर्शन मिल सके।
5 से 7 वीआईपी दर्शन।।
वहीं कतार बद्व भक्तों को माता के दर्शन पाने में कोई असुविधा न हो इसको देखते हुए वीआईपी दर्शन हेतु समय निर्धारण किया गया हैं। मन्दिर प्रशासन ने बताया कि वीआईपी दर्शन शाम 5 बजे से 7 बजे तक होंगे। वहीं भक्तो की कतारें सड़क से बांसफाटक होते हुए ढुंढिराज गणेश गेट न.1 से मन्दिर प्रांगण में प्रवेश करेंगी और मन्दिर में बने अस्थायी सीढ़ियों से प्रथम तल पर विराजमान स्वर्णमयी अन्नपूर्णा का दर्शन करेंगे। और फिर पीछे रास्ते राम मन्दिर होते हुए कालरात्रि दरबार से भक्तो के लिए निकास द्वार बनाया गया हैं।@विकास राय

About Mohd. Akram

Mohd. Akram

Check Also

सीपीएस में विज्ञान प्रदर्शनी का किया गया आयोजन

फतेहपुर। शनिवार को शहर के चिल्ड्रेन पब्लिक स्कूल में शैक्षिक अभिभावक गोष्ठी और विज्ञान प्रदर्शन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

25 हजार के इनामी अपराधी सहित पांच बाइक चोर गिरफ्तार …     |     पुलिस को आठ बाइक बरामद करने में मिली भारी सफलता     |     संगठन के संस्थापक की पुण्यतिथि पर प्रधानों ने दी श्रद्धाजली     |     सीपीएस में विज्ञान प्रदर्शनी का किया गया आयोजन     |     पुलिस ने वाहन चोर गिरोह का किया पर्दाफाश, चार गिरफ्तार     |     गैंगरेप के बाद बालिका की हत्या का खुलासा,आरोपियों के परिजनों ने किया हंगामा     |     ई-रिक्शा पर किसान के साथ हुयी पचास हजार की टप्पेबाजी लोक अदालत में लोन की किस्त जमा करने जा रहा था भुक्तभोगी     |     विज्ञान प्रदर्शनी का जिलाधिकारी ने अवलोकन कर बच्चों की प्रतिभा को सराहा     |     पूर्व सांसद के जनता दरबार में लक्ष्मी काटसिन मिल के श्रमिक पहुच लगायी गुहार     |     जनपद से जन आक्रोश रैली के लिये पांच हजार कार्यकर्ता करेगें कूच-जगनायक     |